Tum Dil Ki Dhadkan Mein Rehte Ho || Filmi Tarj Bhajan || Guru Bhajan || Mukesh Kumar Meena Bhajan


 

खबर नहीं है पल की

बात करे  तू कल की

गफलत में सोया है शरण मे आ गुरुजन की 


सबकी यही कहानी है

आया है सो जाएगा

यतन भले कितना करले

खाली हाथ ही जायेगा

संग चलेगी तेरे गठरी तेरे कर्मन की 

गफलत में सोया है शरण मे आ गुरुजन की 


कपट क्रूर इस दुनिया ने

तुझको बहुत लुभाया है

होश में आजा रे मनवा

ये तो सिर्फ छलावा है

सुख मिलता इक क्षण का बेचैनी हर पल की


बहुत गंवाए दिन तूने

गल गल के गफलत में

सारा वक्त गुजार दिया

तूने तो इस नफरत में

सच्ची डगर दिख जाएगी शरण मे आ गुरुजन की

लेखक : मुकेश कुमार मीना

गायक: मुकेश कुमार मीना

0 Comments