मन धीर धरो, घबराओ नहीं II Ram Bhajan II Bhajan Full Lyrics

 


मन धीर धरो, घबराओ नहीं,
भगवान मिलेंगे, कभी न कभी
मन धीर धरो, घबराओ नहीं,
भगवान मिलेंगे, कभी न कभी

भगवान मिलेंगे, कभी न कभी,
भगवान मिलेंगे, कभी न कभी
मन धीर धरो,,,,,,,,,,,,,

1
फूलों में नहीं, कलियों में नहीं,
काँटों में मिलेंगे, कभी न कभीं
मन धीर धरो,,,,,,,,,,,,,

2
सूरज में नहीं, चंदा में नहीं,
तारों में मिलेंगे, कभी न कभी
मन धीर धरो,,,,,,,,,,,,,,

3
गंगा में नहीं, यमुना में नहीं,
सरयू में मिलेंगे, कभी न कभी
मन धीर धरो,,,,,,,,,,,,,,

4
बागों में नहीं, खलियानो में नहीं,
जंगल में मिलेंगे, कभी न कभी
मन धीर धरो,,,,,,,,,,,,,



5
मंदिर में नहीं, मस्जिद में नहीं,
गुरद्वारे में मिलेंगे, कभी न कभी
मन धीर धरो,,,,,,,,,,,,,,

6
मथुरा में नहीं, गोकुल में नहीं,
मेरे मन में मिलेंगे, कभी न कभी
मन धीर धरो,,,,,,,,,,,,,

0 Comments