Ek Pyar Ka Nagma Hai | Filmi Tarj Bhajan | Mukesh Kumar Bhajan I BhajanLyrics in Hindi


 मझधार में नैया है राहें अंजानी है,


भजन : मझधार में नैया है
गायक: मुकेश कुमार(9660159589)
संगीत:आशीष शर्मा ( Ragaz Studio )
वीडियो:अनिता 

मझधार में नैया है राहें अंजानी है, मेरे बाबा सुन लो मेरी ये नाव पुरानी है, मझधार में ........... मैं बीच भंवर में हूँ मिलता न किनारा है, मेरी डूबती नैया का एक तू ही सहारा है, मुझे आस किसी से नहीं,मुझे आस बढानी है, मेरे बाबा सुन लो ...... मझधार में........... #Mukesh_Kumar_Meena_Bhajan #SUR_SNAGAM दुनिया ने बतलाया तुम माझी हो अच्छे, जो सच्चा है उसके तुम साथी हो सच्चे, क्यों देर लगते हो, क्या नाव डुबानी है, मेरे बाबा सुन लो..... मझधार में............ मुझ से जो चल पाती तुम को न भुलाते हम विश्वाश करो मेरा,खुद पार लगाते हम बातो का वक़्त नहीं,करुणा दिखलानी है, मेरे बाबा सुन लो ......., मझधार में ............

0 Comments